Driving Licence: RTO जाकर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की झंझट खत्म?- Full Process

Driving Licence 2022:- ड्राइविंग लाइसेंस हमारे देश में एक अत्यंत चुनौतीपूर्ण उपक्रम है। विशेष रूप से वे व्यक्ति इसे काम करने के लिए महत्वपूर्ण हैं। जनता की इस समस्या को देखते हुए लोक प्राधिकरण ने नए सिद्धांत बनाए हैं। नए नियमों के अनुसार, आपको क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (RTO) के बार-बार चक्कर नहीं लगाने होंगे।

साथ ही आरटीओ ऑफिस में लंबी कतार में खड़े होने की जरूरत नहीं है या फिर ड्राइविंग टेस्ट नहीं देना है। सामान्य तौर पर आपने आरटीओ के मानदंडों में काफी बदलाव किए हैं। अगर आप भी राजस्थान के रहने वाले हैं और जानना चाहते हैं कि अपना ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनवाएं तो आप सही जगह पर आए हैं,

अब हम आपको घर बैठे ड्राइविंग लाइसेंस दिलवाएंगे, मैं आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने का तरीका बताने जा रहा हूं। पूरी प्रक्रिया समझाई जा रही है, इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़ें।

Driving Licence: RTO जाकर ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की झंझट खत्म?

ड्राइविंग के लिए टेस्ट की जरूरत नहीं

आपको बता दें कि नए बदले गए नियमों के मुताबिक आपको ड्राइविंग परमिट लेने के लिए फिलहाल आरटीओ ऑफिस में ड्राइविंग टेस्ट देने की जरूरत नहीं है। इन मानकों को अब केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा लागू किया गया है। जो अभी ड्राइविंग टेस्ट का इंतजार कर रहे हैं। इससे उन्हें काफी मदद मिलेगी।

ड्राइविंग स्कूल जाओ और वहाँ तैयार हो जाओ

सेवा द्वारा प्रदान किए गए डेटा में कहा गया है कि ड्राइविंग परमिट प्राप्त करने के लिए अब आपको आरटीओ कार्यालय के बजाय ड्राइविंग स्कूल जाना होगा। आप उक्त ड्राइविंग स्कूलों में से किसी में जाकर परमिट के लिए अपना नामांकन कर सकते हैं।

इसके अलावा आप ड्राइविंग स्कूल से भी तैयारी कर सकते हैं और वहां से तैयारी की परीक्षा ले सकते हैं। इससे आपको ऑटो ऑफिस में ड्राइविंग टेस्ट से नहीं गुजरना पड़ेगा। परमिट के कागजात में रखने के बाद आपकी घोषणा भेजी जाएगी। इस तरह आपको ड्राइविंग परमिट मिल जाएगा।

ये हैं नए सिद्धांत

अनुमोदित संगठन को गारंटी देनी चाहिए कि शिक्षण केंद्रों में भूमि के एक हिस्से के समान कुछ है। इसके अलावा संस्थान का मेंटर 12वीं पास होना चाहिए और कम से कम पांच साल का ड्राइविंग एक्सपीरियंस भी होना चाहिए. उसे यातायात नियमों से भलीभांति परिचित होना चाहिए। सेवा ने एक शैक्षिक कार्यक्रम बनाया है। जिसमें हल्के वाहनों के लिए एक महीने का कोर्स और डाउनहिल ड्राइविंग आदि के लिए 21 घंटे का कोर्स होता है। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद कमेंट करके हमें बताएं कैसा लगा।

ऐसे होगी प्रोसेस

अपने डीएल के लिए आवेदन करने वाले लोगों को उनके द्वारा संचालित किए जाने वाले इनमें से किसी भी प्रकार के प्रशिक्षण केंद्रों में खुद को नामांकित करना होगा। टेस्ट क्लियर होने के बाद केंद्र सरकार सर्टिफिकेट जारी करेगी। प्रमाण पत्र प्राप्त करने के बाद, उम्मीदवार ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं जो आरटीआर के बिना किसी से भी परीक्षण के प्रमाण पत्र के आधार पर जारी किया जाएगा।

हम ड्राइविंग परमिट के नए सिद्धांतों के बारे में कैसे जानते हैं ?

सड़क एवं परिवहन मंत्रालय की ओर से तैयारी स्कूल के संबंध में कुछ शर्तें और नियम दिए गए हैं, आइए जानते हैं:-

संगठनों द्वारा यह इंगित किया गया है कि बाइक, तिपहिया, हल्के इंजन वाले वाहनों के लिए निर्देश केंद्र भूमि का लगभग 1 खंड होना चाहिए, मध्यम और वजन वाले यात्री वाहनों या डिजाइनर के लिए उनके आस-पास भूमि के कम से कम 2 खंड होने चाहिए। ड्राइविंग लाइसेंस प्रशिक्षण केंद्र चला सकते हैं।

ड्राइविंग ट्रेनिंग सेंटर का कोच 12वीं पास से कम नहीं होना चाहिए और उस मेंटर को ड्राइविंग का कम से कम 5 साल का अनुभव हो और वह ट्रैफिक नियमों का पालन करने वाला हो। परिवहन मंत्रालय की ओर से एक और नियम भी बताया गया है कि तैयारी स्कूल में हल्के इंजन वाले वाहनों को चलाने के लिए निर्देशात्मक कक्षाएं चलाई जाएंगी.

शो के कोर्स की अवधि एक महीने की होगी जो करीब 29 घंटे तक चलेगी। इन ड्राइविंग समुदायों के लिए प्रॉस्पेक्टस को दो वर्गों में विभाजित किया जाएगा, परिकल्पित और व्यवहार्य।

लोगों को पक्की सड़क, देहाती सड़क, थ्रूवे, सिटी रोड, स्विचिंग, स्टॉपिंग, चढ़ाई, डाउनहिल ड्राइविंग और सड़क सजावट के एक छोटे से हिस्से की तैयारी के लिए 8 घंटे की तैयारी के बारे में सीखने के लिए कहा जाएगा, 21 घंटे निर्देश, समझना होगा दुर्घटना के कारणों, चिकित्सा सहायता और ड्राइविंग की समझ आदि को समझा जाएगा। इस लेख को पढ़ने के बाद हमें कमेंट जरूर करें, जो कुछ भी आप चूक गए हैं, तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

इन प्रक्रियाओं से करें ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त

नए नियम के तहत बिना टेस्ट के ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त ड्राइविंग टेस्ट सेंटर से ट्रेनिंग लेनी होगी। इन केंद्रों की वैधता 5 वर्ष है जिसके बाद इनका नवीनीकरण कराना होता है। इन केंद्रों में प्रशिक्षण पूरा करने के बाद उन्हें उनके द्वारा आयोजित परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। इसके बाद केंद्र की ओर से एक सर्टिफिकेट जारी किया जाता है। इसी प्रमाण पत्र के आधार पर आरटीओ द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया जाता है।

Driving Licence 2022 – Important Link

Official WebsitenewClick Here
Join Our Telegram GroupnewClick Here

निष्कर्ष – Driving Licence 2022

इस तरह से आप अपना  Driving Licence 2022  क कर सकते हैं, अगर आपको इससे संबंधित और भी कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं |

दोस्तों यह थी आज की  Driving Licence 2022  के बारें में सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में आपको Driving Licence 2022 , इसकी सम्पूर्ण जानकारी बताने कोशिश की गयी है |

ताकि आपके Driving Licence 2022 से जुडी जितने भी सारे सवालो है, उन सारे सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल सके |

तो दोस्तों कैसी लगी आज की यह जानकारी, आप हमें Comment box में बताना ना भूले, और यदि इस आर्टिकल से जुडी आपके पास कोई सवाल या किसी प्रकार का सुझाव हो तो हमें जरुर बताएं |

और इस पोस्ट से मिलने वाली जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी Social Media Sites जैसे- Facebook, twitter पर ज़रुर शेयर करें |

ताकि उन लोगो तक भी यह जानकारी पहुच सके जिन्हें Driving Licence 2022 पोर्टल की जानकारी का लाभ उन्हें भी मिल सके|

FAQ:- Driving Licence 2022

मोबाइल नंबर से लाइसेंस कैसे चेक करें?

सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर “Licence-Menu” में “Search Related Application” का चुनाव करें। नया वेबपेज खुलने के बाद दी हुई सारी डिटेल जैसे DL नंबर और जन्मतिथि भरें। फिर सबमिट के बटन पर क्लिक कर दें, इस तरह से आप DL की मदद से अपना ड्राइविंग लाइसेंस चेक कर पाएंगे।

मोबाइल से ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनता है?

आवेदक सबसे पहले सड़क परिवहन और रोजगार मंत्रालय की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करें। अब वेबसाइट की स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ होम पेज पर नीचे आपको अपने राज्य का चयन करना होगा।

x