Railway Group D: भर्ती के 4 बड़े झूठ, बोर्ड की चेतावनी अब कभी नहीं लगेगी नौकरी

Railway Group D: भर्ती के 4 बड़े झूठ, बोर्ड की चेतावनी अब कभी नहीं चलेगी

Railway Group D: क्या आपने रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा भी दी है? तो आज की खबर सिर्फ आपके लिए है, जी हां रेलवे ग्रुप डी भर्ती से जुड़े 4 बड़े झूठों को लेकर रेलवे भर्ती बोर्ड ने चेतावनी जारी की है और कहा है कि अगर आप भी इन 4 बड़े झूठों में फंस जाते हैं। अगर ऐसा है तो भूल जाइए रेलवे में नौकरी पाने का सपना। तो क्या है चेतावनी और क्या हैं ये 4 बड़े झूठ, जानें पूरा अडेट और हो जाएं अलर्ट!

रेलवे ने रेलवे ग्रुप डी भर्ती से जुड़े 4 बड़े झूठ और उनकी सच्चाई को लेकर रेल मंत्रालय की ओर से नोटिफिकेशन जारी किया है, इसके साथ ही इस भर्ती में शामिल होने वाले हर छात्र के लिए एक चेतावनी भी जारी की गई है. ध्यान रहे कि यह चेतावनी रेलवे की ओर से रिजल्ट से पहले जारी की गई है, ताकि उम्मीदवार सतर्क हो सकें.

Railway Group D: भर्ती के 4 बड़े झूठ

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि मंगलवार को रेल मंत्रालय ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल RailMinIndia पर लगातार चार ट्वीट कर भर्ती से जुड़े 4 बड़े झूठ बोले और इन अफवाहों का सच भी बताया. एक तरह से रेलवे का यह ट्वीट ग्रुप डी भर्ती के लिए आवेदन करने वाले करोड़ों उम्मीदवारों के लिए अलर्ट के तौर पर है।

तो आइए अब जानते हैं रेलवे ग्रुप डी भर्ती के 4 बड़े झूठ के बारे में, और जानिए रेलवे ने इस बारे में क्या कहा है-

Railway Group D
Railway Group D

झूठ नंबर 1 –

रेल रोको आंदोलन और रेलवे संपत्ति को नुकसान के कारण, आरआरबी भर्ती परीक्षा परिणाम जल्द ही जारी किया जाएगा।

सच्चाई – अगर कोई आड़ में रेल रोको आंदोलन में हिस्सा लेता है तो उसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही उन्हें भविष्य में किसी भी सरकारी भर्ती प्रक्रिया में भाग लेने से वंचित कर दिया जाएगा।

झूठ नंबर 2 –

आरआरबी भर्ती के स्तर 5, 4, 3, 2 के लिए टाइपिंग परीक्षा परिणाम जारी करने में जानबूझकर देरी हो रही है।

सच्चाई – सच्चाई यह है कि टाइपिंग टेस्ट केवल लेवल 5 और 2 के लिए था। टाइपिंग टेस्ट की लगभग एक लाख उत्तर पुस्तिकाओं की मैन्युअल रूप से जांच की जा रही है।

झूठ नंबर 3 –

आरआरबी भर्ती परीक्षा के सभी स्तरों के परिणाम एक साथ जारी होने पर उम्मीदवारों को फायदा होता।

सच्चाई – ऐसा बिल्कुल नहीं है, अगर ऐसा किया जाता तो एक ही उम्मीदवार के कई स्तरों में चयन की संभावना बढ़ जाती और कई पात्र उम्मीदवार चयनित होने से वंचित रह जाते। ऐसी स्थिति में, अद्वितीय उम्मीदवार को शॉर्टलिस्ट करने के लिए परिणाम को पदानुक्रमित तरीके से जारी करना सबसे उपयुक्त है। क्योंकि यह एक व्यक्ति द्वारा कई सीटों को ब्लॉक करने की संभावना को समाप्त करता है।

Railway Group D Click Here
Join Our LinkClick Here
x