Live on NaukriTime
Welcome To naukri,Nakritime,Sarkari Result, Sarkari Exam,sarkarijob,sarkarijobfind,sarkari (NaukariTime.com)
WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

NEET Low Number: नीट में कम नंबर आए हैं तो भी मिलेगी कॉलेज, कम नंबर वाले इस प्रक्रिया से ले सकते हैं कॉलेज

NEET Low Number:- नीट परीक्षा के सफल समापन के बाद कई ऐसे उम्मीदवार हैं जिन्होंने नीट परीक्षा दी है, भले ही ऐसे उम्मीदवार जिनके नंबर नीट परीक्षा में काम कर रहे हों, वे कॉलेज करवा सकते हैं, हां, अब आपको किसी तरह का तनाव लेने की जरूरत नहीं है।

नीट की परीक्षा में शामिल होने वाले लाखों अभ्यर्थी इस बात को लेकर तनाव में रहते हैं कि हमारे वर्क मार्क्स आ गए हैं और हम कॉलेज कैसे बनवाएंगे, बहुत सारे छात्रों को इस बारे में समस्या होती है और उन्हें दबाव का सामना करना पड़ता है और कभी-कभी ऐसी स्थिति भी आ जाती है तो वे डिप्रेशन में चले जाते हैं,

लेकिन अब आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं है, अगर आपके काम के नंबर भी नीट में आते हैं। फिर भी आप किसी अच्छे कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं और वहां से आप आगे की पढ़ाई पूरी कर सकते हैं, लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आप नीट यूजी पास जरूर करें क्योंकि अगर आप नीट यूजी क्लियर नहीं कर पाते हैं तो आपको यह मौका नहीं मिलता है।

NEET Low Number
NEET Low Number

देश के कई छात्रों का सपना होता है कि हम डॉक्टर बनें और इसीलिए वे NEET UG परीक्षा में शामिल होते हैं, NEET पास करने के बाद वे आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं, अपने उद्देश्य को पूरा करने के लिए NEET परीक्षा आयोजित की जाती है और वहीं से वे प्रतियोगिता की तैयारी करते हैं। एमबीबीएस करें और बहुत अधिक प्रतिस्पर्धा के कारण कटऑफ भी अक्सर ऊंची रहती है। और कई बार बच्चों को प्रतियोगिता में नंबर भी नहीं मिलते और वे निराश हो जाते हैं और फिर दोबारा अपनी पढ़ाई करते हैं और कई छात्र पढ़ाई छोड़ देते हैं।

वर्तमान समय में हमारे देश यानी भारत में मेडिकल कॉलेजों की संख्या 704 है और एमबीबीएस सीटों की संख्या की बात करें तो यहां 107948 हैं, हालांकि जानकारी के मुताबिक हम आपको बता दें कि हमारे देश भारत में एमबीबीएस में एडमिशन लेने के लिए सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए 620 से 630 अंक, इसके अलावा ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 605 से 610 अंक प्राप्त करना बहुत महत्वपूर्ण है। इसे लाना बहुत जरूरी है, यह हर साल ऊपर-नीचे होता रहता है।

हमारे देश में एमबीबीएस का सरकारी सेट न होने के कारण प्राइवेट कॉलेज में भारी फीस के कारण डॉक्टर बनने का सपना देखने वाले हजारों छात्र कई बार विदेश में एमबीबीएस करने का विकल्प भी चुनते हैं क्योंकि कई छात्र ऐसे होते हैं जिन्हें आसानी से विदेश में कॉलेज मिल जाता है। और पढ़ाई भी अच्छे से करते हैं इसके लिए ज्यादा पैसे देने की भी जरूरत नहीं होती क्योंकि सरकार द्वारा आजकल पढ़ाई के लिए कई स्कॉलरशिप भी दी जा रही है।

भारतीय छात्रों के लिए नेपाल में एमबीबीएस करने के बड़े विकल्प हैं, आप नेपाल में बहुत कम खर्च में एमबीबीएस कर सकते हैं, यहां देश के हजारों छात्र नेपाल जाते हैं और वहां का कॉलेज चुनते हैं, वहां आप मेडिकल साइंसेज भरतपुर जैसे लोकप्रिय कॉलेज चुन सकते हैं। , जानकी मेडिकल कॉलेज, नेशनल मेडिकल कॉलेज बीरगंज, नेपालगंज मेडिकल कॉलेज आदि से भी आप आसानी से आ सकते हैं और यहां जाने में खर्च भी कम आएगा।

इसके अलावा, आप रूसी मेडिकल डिग्री प्राप्त कर सकते हैं, यहां भारतीय छात्रों के लिए बहुत लोकप्रिय स्थानों में से एक है, रूस में कई विश्वविद्यालय हैं जहां छात्र एमबीबीएस डिग्री में प्रवेश लेने के लिए 50% अंकों के साथ NEET योग्यता ले सकते हैं। यहां टवर स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी, स्टावरोपोल स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी, वोल्गोग्राड स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी, स्मोलेंस्क स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी, कज़ान स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी आदि उपलब्ध हैं।

कज़ाख़िस्तान से कर सकते हैं एमबीबीएस

नीट पास करने के बाद, भारतीय छात्रों को एमबीबीएस डिग्री कोर्स में प्रवेश लेने के लिए कजाकिस्तान के विश्वविद्यालयों का दौरा करना चाहिए। यहां एडमिशन लेने के लिए आपको नीट भी क्लियर करना होगा।

यहां कुछ लोकप्रिय मेडिकल कॉलेज हैं, हम यहां उनके बारे में चर्चा कर रहे हैं। कुछ मेडिकल कॉलेज वेस्ट कजाकिस्तान स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी, कैस्पियन यूनिवर्सिटी इंटरनेशनल स्कूल ऑफ मेडिसिन, करगांडा मेडिकल यूनिवर्सिटी, जेएससी नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी, स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी सेमी आदि हैं।

पोलैंड से कर सकते हैं मेडिकल डिग्री एमबीबीएस 

एमबीबीएस के लिए आवेदन करने के लिए भारतीय छात्रों के लिए नीट में पासिंग मार्क्स होना अनिवार्य है। पोलैंड के लोकप्रिय कॉलेजों की बात करें तो यहां मुख्य रूप से कॉलेजियम मेडिकम जगियेलोनियन यूनिवर्सिटी, पॉजनान यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल साइंसेज, मेडिकल यूनिवर्सिटी ऑफ डांस्क, मेडिकल यूनिवर्सिटी ऑफ ल्यूबेल्स्की, मेडिकल यूनिवर्सिटी ऑफ व्रोकला, निकोलस कोपरनिकस यूनिवर्सिटी, मेडिकल यूनिवर्सिटी ऑफ सिलेसिया, वारसॉ मेडिकल एकेडमी आदि मौजूद हैं।

चीन से कर सकते हैं एमबीबीएस की पढ़ाई 

हमारे पड़ोसी देश चीन में कई विश्वविद्यालय हैं जो नीट स्कोर को स्वीकार करते हैं। अगर हम मेडिकल कॉलेजों की बात करें तो यहां ऐसे विश्वविद्यालय हैं जैसे – अनहुई मेडिकल यूनिवर्सिटी, चाइना मेडिकल यूनिवर्सिटी, डालियान यूनिवर्सिटी, शेडोंग यूनिवर्सिटी आदि। कुछ विश्वविद्यालय ऐसे हैं जो योग्यता अंक मांगते हैं जबकि कुछ नीट में 200 से 250 के बीच अंक स्वीकार करने के लिए तैयार हैं।

Important Links

Join Our Telegram Group Click Here

निष्कर्ष – NEET Low Number

इस तरह से आप अपना NEET Low Number कर सकते हैं, अगर आपको इससे संबंधित और भी कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं |

दोस्तों यह थी आज की NEET Low Number के बारें में सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में आपको NEET Low Number , इसकी सम्पूर्ण जानकारी बताने कोशिश की गयी है |

ताकि आपके NEET Low Number से जुडी जितने भी सारे सवालो है, उन सारे सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल सके |

तो दोस्तों कैसी लगी आज की यह जानकारी, आप हमें Comment box में बताना ना भूले, और यदि इस आर्टिकल से जुडी आपके पास कोई सवाल या किसी प्रकार का सुझाव हो तो हमें जरुर बताएं |

और इस पोस्ट से मिलने वाली जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी Social Media Sites जैसे- Facebook, twitter पर ज़रुर शेयर करें |

ताकि उन लोगो तक भी यह जानकारी पहुच सके जिन्हें NEET Low Number  पोर्टल की जानकारी का लाभ उन्हें भी मिल सके|

Related Posts

Join Job And News Update
Telegram WhatsApp Channel
FaceBook Instagram
Twitter YouTube
x