Live on NaukriTime
Welcome To naukri,Nakritime,Sarkari Result, Sarkari Exam,sarkarijob,sarkarijobfind,sarkari (NaukariTime.com)
WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now

Indian Railways Loco Pilots Rule: जब चलती ट्रेन के दौरान ड्राइवर को Toilet लगती है तो वो कहां फ्रेश होते हैं? जानने के बाद भी नहीं होगा यकीन

Indian Railways Loco Pilots Rule: भारतीय रेलवे यात्रियों की सुविधा के लिए हर दिन कोई ना कोई योजना बनाती रहती है। रेलवे के टिकट का दाम हर श्रेणी के लोगों के लिए बनाया गया है। इसके अलावा ट्रेन में भी हर सुविधा प्रदान की गई है।

चाहे वो सोने की व्यवस्था हो, बैठने की हो, सर्दी-गर्मी की हो या फिर बाथरूम में टॉयलेट जाना हो। भारतीय रेलवे ने यात्रियों के लिए हर सुविधा दी है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि अगर ट्रेन चलाने वाले ड्राइवर यानी लोको पायलट को ट्रेन चलाने के बीच टॉयलेट जाना हो तो वो क्या करते हैं?

लोको पायलट भी इंसान होता है और नेचर कॉलिंग उसे भी समय समय पर आती ही होगी। ऐसे में अगर ट्रेन चलाने के बीच में उन्हें बाथरूम जाने की नौबत आती है तो इसके लिए भी भारतीय रेलवे का एक नियम है। इस नियम के बारे में अगर आपने कभी नहीं सोचा हो तो चलिए आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

Indian Railways Loco Pilots Rule
Indian Railways Loco Pilots Rule

ट्रेन चलाने के बीच लोको पायलट के नियम 

ट्रेन में सफर करते समय लोगों को टॉयलेट तो जाना होता ही है। इसके लिए ट्रेन में वॉशरूम की सुविधा भी भारतीय रेलवे ने दी है जो हर बोगी में दोनों तरफ बना होता है। भारतीय रेलवे ने लोको पायलट के लिए एक खास रूल बनाया है।

नियम के मुताबिक, ट्रेन चलाने की ड्यूटी शुरू होने से पहले लोको पायलट को फ्रेश होना जरूरी है। जिसके बाद कम से कम 3 से 4 घंटे उन्हें लगातार ट्रेन चलानी होती है। इस दौरान अगर उन्हें टॉयलेट लगती भी है तो उन्हें बर्दाश्त करना होता है।

ऐसा नियम इसलिए भी है कि ट्रेन चलाने के दौरान उन्हें किसी तरह की कोई समस्या का सामना कभी नहीं करना पड़े। वहीं किसी लोको पायलट को अगर ट्रेन चलाने के बीच में इमरजेंसी में वॉशरूम जाने की नौबत आई तो भी एक नियम भारतीय रेलवे ने बनाया है।

इमरजेंसी में अगर लोको पायलट को वॉशरूम जाने की जरूरत होती है तो उन्हें कंट्रोल रूम से उसे अगले स्टेशन पर ट्रेन रोकने की परमिशन मिल जाए। परमिशन मिलने पर ट्रेन रुकती है और वो जाकर फ्रेश हो सकते हैं।

बता दें, भारतीय रेलवे के कुछ ऐसे नियम हैं जो लोगों की सुविधा के लिए बनाए गए हैं। फिर चाहे ये नियम यात्रियों के लिए हो या उनके स्टाफ के लिए हो, ये सभी को मानने होते हैं। लोको पायलट की ड्यूटी 8 घंटे की होती है लेकिन अगर उन्हें बीच में टॉयलेट जाना भी होता है तो उन्हें कम से कम 3-4 घंटे तक ट्रेन चलाना ही होता है।

Important Link

Sarkari YojanaClick Here
Official WebsiteClick Here
Join Our Telegram GroupClick Here

निष्कर्ष – Indian Railways Loco Pilots Rule 2024

इस तरह से आप अपना Indian Railways Loco Pilots Rule 2024 कर सकते हैं, अगर आपको इससे संबंधित और भी कोई जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं |

दोस्तों यह थी आज की Indian Railways Loco Pilots Rule 2024 के बारें में सम्पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में आपको Indian Railways Loco Pilots Rule 2024 , इसकी सम्पूर्ण जानकारी बताने कोशिश की गयी है |

ताकि आपके Indian Railways Loco Pilots Rule 2024 से जुडी जितने भी सारे सवालो है, उन सारे सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल सके |

तो दोस्तों कैसी लगी आज की यह जानकारी, आप हमें Comment box में बताना ना भूले, और यदि इस आर्टिकल से जुडी आपके पास कोई सवाल या किसी प्रकार का सुझाव हो तो हमें जरुर बताएं |

और इस पोस्ट से मिलने वाली जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी Social Media Sites जैसे- Facebook, twitter पर ज़रुर शेयर करें |

ताकि उन लोगो तक भी यह जानकारी पहुच सके जिन्हें Indian Railways Loco Pilots Rule 2024   पोर्टल की जानकारी का लाभ उन्हें भी मिल सके|

Related Posts

Join Job And News Update
TelegramWhatsApp Channel
FaceBookInstagram
TwitterYouTube
x